बॉलीवुड की लीजेंड्री स्टार रहीं नर्गिस दत्त की (3 मई) डेथ एनिवर्सरी थी. इस मौके पर आज हम आपको सुनील दत्त और नर्गिस की लाइफ से जुड़ी कुछ बेहद दिलचस्प बातें बताएंगे. नर्गिस अपने समय की चोटी की एक्ट्रेस थीं और फिल्म ‘मदर इंडिया’ ने उन्हें देश ही नहीं बल्कि विदेशों तक में पॉपुलर बना दिया था. एक्टर सुनील दत्त और नर्गिस की लव स्टोरी भी फिल्म ‘मदर इंडिया’ से ही शुरू हुई थी. ख़बरों की मानें तो फिल्म के सेट पर एक बार भीषण आग लग गई थी. कहते हैं नर्गिस इस आग में बुरी तरह से फंस गई थीं और कोई उन्हें बचाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था. ऐसे में सुनील दत्त (जो फिल्म ‘मदर इंडिया’ में नर्गिस के बेटे का रोल निभा रहे थे) ने हिम्मत दिखाई और आग में कूद गए और नर्गिस को बचा लाए. कहते हैं इसके बाद सुनील दत्त और नर्गिस के बीच नजदीकियां बढ़ीं जो आगे चलकर प्यार में तब्दील हो गईं.

सुनील दत्त और नर्गिस ने इसके बाद साल 1958 में शादी कर ली थी. सुनिल दत्त और नर्गिस से जुड़ा एक किस्सा और है. नर्गिस को कैंसर डिटेक्ट हुआ था और उनका इलाज अमेरिका में चल रहा था. कहते हैं बीमारी ने नर्गिस को तोड़ कर रख दिया था और वो लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर चली गईं थीं. ऐसे में डॉक्टर्स ने सुनील दत्त को सलाह दी कि अब नर्गिस का लाइफ सपोर्ट सिस्टम हटा लेना चाहिए क्यूंकि उनके बचने के चांसेज बेहद कम हैं. हालांकि, कहते हैं सुनील दत्त ने डॉक्टर को ऐसा करने से साफ़ मना कर दिया था.

आपको बता दें कि नर्गिस अपने बेटे सुनील दत्त को बहुत चाहती थीं. कहते हैं कि आख़िरी समय पर नर्गिस की दिली ख्वाहिश थी कि वो संजय दत्त की डेब्यू फिल्म ‘रॉकी’ देखें. हालांकि, फिल्म की रिलीज डेट, 8 मई से पहले ही नर्गिस यह दुनिया छोड़कर चली गईं थीं. आपको बता दें कि कैंसर से लड़ते हुए नर्गिस ने 3 मई को आख़िरी सांस ली थी. जब नर्गिस का देहांत हुआ तब उनकी उम्र 51 साल की थी और उनकी संजय दत्त की पहली फिल्म देखने की इच्छा पूरी नहीं हो सकी थी.