बॉलीवुड के हीमैन कहे जाने वाले स्टार धर्मेंद्र की पूरी लाइफ किसी फ़िल्मी कहानी से कम नहीं है. आज के इस आर्टिकल में हम धरम पाजी की लाइफ से जुड़ा एक बेहद इंट्रेस्टिंग किस्सा आपको सुनाने जा रहे हैं. दरअसल यह पूरा वाकया साल 1966 का है जब धरम पाजी फिल्म ‘आए दिन बहार के’ की शूटिंग के सिलसिले में दार्जिलिंग में थे. उस दौरान धरम पाजी दिनभर फिल्म की शूटिंग करते और रात को फिल्म के प्रोड्यूसर्स और अन्य स्टाफ के साथ जमकर शराब पीते थे. यह बात खुद धर्मेन्द्र ने एक शो के दौरान बताई थी. धर्मेन्द्र के अनुसार, देर रात तक शराब पार्टी के बाद अगले दिन जब वो फिल्म की शूटिंग के लिए पहुंचते तो मुंह से शराब की तेज गंध आती थी. धर्मेंद्र के अनुसार, वो इस गंध को दबाने के लिए प्याज खा लिया करते थे और शूटिंग पर पहुंच जाया करते थे.

आपको बता दें कि फिल्म ‘आए दिन बहार के’ में धरम पाजी के अपोजिट एक्ट्रेस आशा पारेख थीं. एक बार आशा पारेख ने शिकायत कर दी कि धर्मेंद्र के मुंह से प्याज की स्मेल आती है. इसके बाद धरम पाजी ने उन्हें बताया कि वे असल में शराब की गंध दबाने के लिए प्याज खाकर शूटिंग पर आते हैं. कहते हैं कि आशा पारिख ने इसके बाद धर्मेंद्र को शराब पीने के लिए ना कह दिया था और मजे की बात देखिए कि धरम पाजी ने भी उनका सम्मान करते हुए शूटिंग के दौरान शराब को हाथ तक नहीं लगाया.

मीडिया रिपोर्ट्स की अनुसार, फिल्म ‘आए दिन बहार के’ में सीन था जिसमें धरम पाजी को पानी में डांस करते हुए शूटिंग करना थी. चूंकि, दार्जिलिंग का मौसम ठंडा था और पानी में भीगा होने के कारण धरम पाजी को तेज ठंड लग रही थी, ऐसे में हर टेक के बाद यूनिट के लोग उन्हें ब्रांडी ऑफर कर देते थे. बताते हैं कि धरम पाजी ब्रांडी को दखते और आशा पारेख को देखते और फिर ब्रांडी नहीं पीते क्योंकि उन्होंने शूटिंग के दौरान शराब ना पीने का वादा जो किया था. धर्मेंद्र के अनुसार, वो आज भी इन पुराने दिनों को याद करके भावुक हो जाते हैं.