कोरोना महामारी के बाद से लगातार साउथ इंडस्ट्री की फिल्में ग्रोथ कर रही हैं. साउथ की फिल्में देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी काफी ज्यादा पॉपुलैरीटी हासिल कर रही है. यही कारण है कि इनकी फिल्में इस समय खूब ज्यादा देखी जा रही है और साउथ इंडस्ट्री की फिल्मों को देखने के बाद लोग जमकर इनकी तारीफ भी कर रहे हैं. वहीं कोरोना महामारी के बाद बॉलीवुड के लिए बुरा समय आ गया है. बॉलीवुड की फिल्में लगातार फ्लॉप होती जा रही है. इतना ही नहीं यह फिल्में अपनी लागत तक नहीं निकाल पा रही हैं.

ऐसे में साउथ इंडस्ट्री के अभिनेताओं और हिंदी सिनेमा के अभिनेताओं के बीच जुबानी जंग छिड़ गया है. ये सितारे अपने आप को बेहतर बनाने के लिए तरह-तरह की बातें कर रहे हैं और आए दिन इसकी वजह से विवाद बढ़ता ही जा रहा है. वहीं हाल ही में साउथ इंडस्ट्री के चॉकलेट बॉय कहे जाने वाले सुपरस्टार महेश बाबू ने बॉलीवुड डेब्यू करने को लेकर एक विवादित बयान दे दिया है. जिसके बाद से सोशल मीडिया पर इन्हें जमकर ट्रोल किया जा रहा है.

इतना ही नहीं बॉलीवुड के सितारे भी महेश बाबू को खूब बुरा भला कह रहें हैं और तो और अब बॉलीवुड के बेहतरीन अभिनेता सुनील शेट्टी भी इस मामले में कूद पड़े हैं और उन्होंने महेश बाबू को करारा जवाब दिया है. आखिर क्या है यह पूरा मामला आगे आपको बताने वाले हैं.

Suniel shettyहिंदी सिनेमा के बेहतरीन अभिनेता सुनील शेट्टी ने हाल ही में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा की मुझे लगता है कि बॉलीवुड बनाम साउथ इंडस्ट्री को सोशल मीडिया पर क्रिएट किया गया. हम सब भारतीय हैं. ओटीटी प्लेटफॉर्म की बात की जाए तो वहां भाषा मैटर नहीं करती बल्कि ओटीटी प्लेटफार्म पर उनके कंटेंट मैटर करता है. लोगों को ओटीटी प्लेटफॉर्म अच्छे कंटेंट की वजह से अच्छा लगता है. ठीक कुछ इसी प्रकार साउथ इंडस्ट्री और बॉलीवुड में यही फर्क है. मैं साउथ से आता हूं लेकिन मेरी कर्म भूमि मुंबई है इसलिए मैं मुंबईकर के नाम से जाना जाता हूं.

यह भी पढ़ें – द कश्मीर फाइल्स देखने के बाद खुद को चुप नहीं कर सके सुनील शेट्टी, दे दिया बड़ा बयान

सुनील शेट्टी ने आगे कहा कि असली सच्चाई तो यह है कि ऑडियंस निर्णय ले रही है कि कौन सी फिल्में देखनी चाहिए और कौन सी फिल्में नहीं देखना चाहिए. मेरी परेशानी यही है कि हम कहीं ना कहीं ऑडियंस को भूल चुके हैं हम ऑडियंस को सही ढंग से केटर नहीं कर पा रहे हैं. इतना ही नहीं सिनेमा में लोग मुझे कहते हैं कि सिनेमा हो चाहें ओटीटी बाप तो बाप ही रहेगा. बाकी के फैमिली मेंबर्स भी फैमिली मेंबर्स ही रहेंगे. इतना ही नहीं सुनील शेट्टी ने आगे कहा कि देश के 70% आबादी थिएटर में अच्छे कंटेंट को देखकर सीटी बजाती है ना कि यह देखकर की ये फिल्में साउथ इंडस्ट्री की है की ये फिल्में बॉलीवुड की है. हमें हमारे कंटेंट पर ध्यान देना चाहिए बॉलीवुड हमेशा बॉलीवुड ही रहेगा.

यह भी पढ़ें – जानिए एक फिल्म के लिए कितनी फीस लेते हैं महेश बाबु, जो बॉलीवुड नहीं कर सकता उन्हें अफॉर्ड