साल 2020 में लॉकडाउन लगने के बाद सोनू सूद सबकी नजरों में आ गए थे, और किस कदर नजरों में आए ये बताने की जरूरत नहीं है. दरअसल लॉकडाउन के बाद से सोनू सूद ने लाखों प्रवासी मजदूरों समेत पूरे देश भर में कई तरह की जरूरतमंदों की जरूरत को पूरा किया. और इसी कारण फिल्मों में विलेन का रोल करने वाले सोनू सूद को लोगों ने रियल लाइफ का हीरो मान लिए, वहीं उन्हें मसीहा का नाम दे दिया था.

हालांकि पिछले कुछ दिनों से इस रियल लाइफ के हीरो की छवी फिर विलेन जैसी होती जा रही है. दरअसल इनके 6 ठिकानों पर आयकर विभाग के छापेमारी के बाद, विभाग ने इन पर 20 करोड़ के टैक्स चोरी समेत कई तरह आरोप लगाए हैं.

वहीं इन सब आरोपों के लगने के बाद सोनू सूद सोशल मीडिया पर अपने चाहने वालों के बीच लौटे, और उन्हें इन सारे आरोपों को लेकर अपनी सफाई दी. बता दें उन्होंने अपने सोशल मीडिया एक लंबा चौड़ा नोट शेयर किया, जिसमें उन्होंने अपने ऊपर लग रहे आरोपों पर बात की.

उन्होंने नोट्स को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा – सख्त राहों में भी आसान सफर लगता है, हर हिन्दुस्तानी की दुआओं का असर लगता है. आगे उन्होंने नोट में लिखा – ये मेरी खुशकिस्मती है कि मैंने अपने पूरे ताकत और दिल से लोगों की सेवा की है, मेरे फाउन्डेशन का का सारा पैसा जरूरतमंदों की जरूरत के लिए है. यहां तक कि कई बार मैंने अपनी ब्रांड एंडोर्समेंट की फीस भी कंपनी को जरूरतमंदों में डोनेट करने के लिए भी प्रोत्साहन किया है, ताकि लोगों की जरूरत में कभी भी पैसे की कमी ना हों.

आगे उन्होंने लिखा कि पिछले चार दिनों से मैं कुछ मेहमानों में बिजी था लेकिन एक बार फिर से आप सब के बीच जिंदगीभर आपके सेवा के लिए विनम्र भाव से लौट चुका हूं. नोट के अंत में उन्होंने लिखा कि कर भला, हो भला, अंत भले के भले. मेरा सफर जारी रहेगा – जय हिंद.