हाल ही में महाराष्ट्र से उठे अज़ान विवाद की लौ अब पूरे देश में देखने को मिल रही है.इसी कड़ी में अब मशहूर गायिका अनुराधा पौडवाल ने लाउडस्पीकर पर अज़ान का विरोध किया है. उन्होंने इसपर आपत्ति जताते हुए इसे बैन करने की मांग की है. हाल ही में आजतक से बात चीत में उन्होंने इसकी मांग रखी. उन्होंने जगरातों में भी माइक को चालू करने की भी मांग की, इस से पहले भी लाउडस्पीकर पर अज़ान को लेकर आवाज उठती रही है. कुछ सालों पहले प्लेबैक सिंगर सोनू निगम ने भी इसका विरोध किया था जिसके बाद काफी ज्यादा कंट्रोवर्सी का उन्हे सामना करना पड़ा था.

हमारी भी संस्कृति थी, हमने किया बंद

आजतक से बात चीत में अनुराधा पौडवाल ने कहा के हमारे भी जगराते बंद हुए. यह भी हमारी संस्कृति थी. लेकिन 10 बजे के बाद लोगों को तकलीफ होती है. उन्होंने कहा के मुद्दा मजहब का नही बल्के मुद्दा लाउडस्पीकर है. अगर यह लोग बजाते है तो हम क्यों नही ? आगे चिंता जाहिर करते हुए उन्होने कहा ऐसे तो दुनियां मेला बन जायेगी. सब लोग भेड़चाल चलने लगेंगे।

यह भी पढे़-दीपिका ने किया रणवीर से शादी करने की वजह का खुलासा, कहा इस बात से होती हूं इरिटेट

कानून सब के लिए एक जैसा

उन्होंने इस बात चीत में जगराते पर भी बात की. Anuradha Paudwal ने कहा हमे शांति से रहना चाहिए और एक दूसरे को तकलीफ न देते हुए रहना चाहिए. आगे उनका कहना है के अगर कानून बनता है के 10 बजे के बाद लाउडस्पीकर नही बजा सकते लोगों को तकलीफ होती है. इतने लोगो का घर जगराते में गा कर चलता था. लेकिन फिर भी बंद हुआ तब किसी ने कोई अवाज़ नही उठाई.

यह भी पढे़-अपने बच्चे को गोद में उठाये भारती की खुशी देखते ही बनती है, लोग बोले नज़र न लगे

कानून अगर बनता है तो सबके लिए एक होना चाहिए. कर्नाटक सरकार का ज़िक्र करते हुए उन्होंने कहा कर्नाटक सरकार ने बोला अगर कोई भी लाउडस्पीकर चले तो वह एक निर्धारित डिसीबल तक चले यह एक अच्छी पहल है. 10 बजे के बाद लाउडस्पीकर बंद हुए तो हमारी भी संस्कृति बंद हुए. कानून सबके लिए एक होना चाहिए.

यह भी पढे़-4 सालों बाद पर्दे पर वापसी के साथ शाहरुख बन गए सबसे ज्यादा फीस लेने वाले ऐक्टर, पठान के लिए चार्ज की है इतनी फीस