14 जून तक सुशांत के लिए काम करने वाले नौकर को सारा ने दी नौकरी, इस बात का लग रहा था डर…

964

सुशांत सिंह राजपूत के निधन को कुछ ही दिनों में 4 महीने पूरे हो जाएंगे, लेकिन सीबीआई के हाथ अभी तक कोई पुख्ता जानकारी नहीं लगी है, जिससे कि आत्महत्या को मर्डर करार दिया जा सके. सुप्रीम कोर्ट द्वारा केस सीबीआई को सौंपे जाने के बाद एम्स के डॉक्टरों की टीम भी सुशांत के मौत की छानबीन में जुटी हुई थी.

13 जून को नहीं हुई थी कोई पार्टी

रिपोर्ट के मुताबिक, नौकर ने बिहार पुलिस को कई अहम जानकारियां दी हैं। नौकर ने पूछताछ में उन खबरों को गलत बताया है जिनमें कहा जा रहा था कि 13 जून की रात सुशांत के घर पर पार्टी हुई थी। नौकर ने बताया कि सुसाइड से पहले 13 जून की रात सुशांत के घर पर कोई पार्टी नहीं हुई थी। ना ही सुशांत किसी पार्टी में कहीं गए थे। 13 जून की रात डिनर करने के बाद सुशांत अपने बेडरूम में चले गए थे। 14 जून की सुबह वह जल्दी उठ गए थे।

सारा के यहां काम कर रहे केशव?

रिपब्लिक चैनल की मानें तो हाल ही में केशव ने सारा के यहां काम करना शुरू किया है. रिपोर्ट में किये गए दावे के अनुसार इस बात का खुलासा सारा के घर के बाहर मौजूद रहने वाले बॉडीगार्ड ने किया है. कुछ दिन पहले नीरज से जुड़े एक शख्स ने खुलासा किया था कि हाल ही में केशव गोवा से मुंबई लौटा है. रिपोर्ट्स की मानें तो वह सारा के कहने पर ही मुंबई वापस लौटा है.

अब हर किसी के मन में यह सवाल उठने लगा है कि ड्रग्स विवाद में इतनी बुरी तरह फंसे होने के बावजूद सारा ने केशव को क्यों हायर किया है? साथ ही यह खबर भी सामने आ रही है कि सुशांत के एक स्टाफ ने जावेद अख्तर के यहां काम करना शुरू कर दिया है. ऐसे में लोगों का कहना है कि इस समय सुशांत के स्टाफ को हायर करना उनके गले के नीचे नहीं उतर रहा है. लोगों को अब लगने लगा है कि पूरी फिल्म इंडस्ट्री मिलकर जरुर कोई न कोई बात छुपा रही है.

More : राखी सावंत ने बताया बॉलीवुड के ज़्यादातर स्टार्स क्यों लेते हैं ड्रग्स और क्या है इनकी मजबूरी.

बेडरूम में मृत मिले थे सुशांत

इससे पहले सामने आई खबरों में यह बात सामने आई थी कि 14 जून को सुबह उठने के बाद सुशांत ने अनार का जूस पिया था और फिर अपने बेडरूम में वापस चले गए थे। काफी देर तक दरवाजा नहीं खोलने के बाद उनकी बहन मीतू को कॉल करके घर पर बुलाया गया था।

बिहार पुलिस को दिए बयान में बहन मीतू ने भी कहा था, ’14 जून को मुझे सिद्धार्थ पिठानी का कॉल आया जिन्होंने कहा कि सुशांत अपने कमरे का दरवाजा नहीं खोल रहे और काफी समय से अपने बेडरूम में ही हैं। मैं तुरंत वहां गई, इस बीच में लगातार उन्हें कॉल करती रही लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। घर पहुंचने के बाद, हमने बेडरूम की डुप्लीकेट चाबी बनवाई और दरवाजा खोलते ही देखा कि सुशांत की बॉडी पंखे से लटकी हुई है। मैं सन्न रह गई और कुछ समझ नहीं आया कि क्या करूं। कुछ समय बाद मुंबई पुलिस आई और जांच शुरू की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here