बॉलीवुड के चर्चित अभिनेताओं में से एक नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी को उनकी शानदार एक्टिंग के लिए कई सारे अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है. बता दें, हाल ही में नवाजुद्दीन सिद्दीकी द इंटरनेशनल एमी अवॉर्ड के लिए बतौर बेस्ट परफॉर्मेंस एक्टर इन्हें नॉमिनेट किया गया है. सुधीर मिश्रा के निर्देशन में बनी फिल्म “सीरियस मैन” के लिए इन्हें नॉमिनेट किया गया है. नॉमिनेट होने के बाद नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने ऐसा बयान दिया है जिस पर लगातार चर्चा हो रही है.

Nawazuddin Siddiqui to undergo physical transformation for the biopic of a  customs officer : Bollywood News - Bollywood Hungamaदरअसल उन्होंने कहा कि – सुधीर साहब के पास हिंदी सिनेमा को लेकर जबरदस्त जानकारी का भंडार है. वह बहुत ही प्रैक्टिकल आदमी है और मैं समझता हूं कि उनकी सोचने की क्षमता भी बहुत ज्यादा है. आगे उन्होंने कहा कि लेकिन मैं आपको बता दूं हमारी इंडस्ट्री में रेसिज्म ज्यादा है”

बता दें, इस फिल्म में इंदिरा तिवारी अहम किरदार में हैं. नवाजुद्दीन कहते हैं कि मुझे इनके साथ काम करके बेहद अच्छा लगा और भविष्य में कभी मौका मिलेगा तो उनके साथ जरूर काम करूंगा” और वैसे भी इस इंडस्ट्री में नेपोटिज्म से ज्यादा रह रेसिज्म की समस्या है. बॉलीवुड हंगामा से बातचीत करते हुए नवाजुद्दीन सिद्दीकी आगे कहते हैं कि मैंने इस इंडस्ट्री को काफी समय तक झेला है और आगे भी झेलता रहूंगा. मेरा मानना है कि डार्क स्किन लड़कियों को भी एक्टिंग में मौका मिलना चाहिए उन्हें भी हीरोइन बनने का पूरा हक है.

5 Times Nawazuddin Siddiqui Stole The Thunder From The Lead Actor In The  Movieनवाज आगे कहते हैं कि जब मैंने इस इंडस्ट्री में सफर की शुरुआत की थी तो मुझे भी अपनी हाइट की वजह से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था. और अब जब मेरी कुछ पहचान बन चुकी है तो मैं देखता हूं कि जो नए एक्टर होते हैं उनके साथ बहुत ज्यादा भेदभाव किया जाता है. नवाज आगे कहते हैं कि मुझे उम्मीद है कि इस भेदभाव को आगे जरूर खत्म किया जाएगा और नए नए एक्टर हमें देखने को मिलेंगे. जानकारी के लिए बता दें, कि सुष्मिता सेन की आज्ञा को भी नवाजुद्दीन सिद्दीकी के साथ नॉमिनेट किया गया है.