अपनी कॉमेडी से घर-घर में पहचान बनाने वाले मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव आज हमारे बीच नहीं रहे.उन्होंने आज 21 सितंबर को दिल्ली के एम्स अस्पताल में आखिरी सांस ली. बता दें कि कॉमेडियन को इससे पहले 10 अगस्त को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उन्हें जिम में वर्कआउट के दौरान दिल का दौरा पड़ा था जहां उन्हें आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया डॉक्टरों के मुताबिक उन्हें हार्ट अटैक आया था.

जब इनजियोग्राफी हुई तो पता चला कि उनका हार्ट ब्लॉकेज सौ फीसदी हो चुका है तभी डॉक्टरों ने स्टंट लगा दिया था.हालाकी डॉक्टरों के कोशिशों के बाद भी राजू की जान नहीं बच सकी.बता दें की उन्होंने अपने करियर की शुरुआत में काफी मेहनत की और एक सफल कॉमेडियन के रूप में देखे जाने लगे.

1988 में मुंबई आए

गौरतलब है कि राजू श्रीवास्तव का जन्म कानपुर में एक कवि के घर में हुआ था उन्हें बचपन से ही हंसाने का काफी शौक था. इसलिए उन्होंने साल 1988 में मुंबई का रुख किया करियर के शुरुआती दौर में उन्हें काफी मशक्कत करनी पड़ी उन्हें काम नहीं मिल रहा था. एक इंटरव्यू में राजू ने खुलासा किया था कि जब वह मुंबई आए थे तब कॉमेडियन को बड़े कलाकार के रूप में नहीं देखा जाता था. कॉमेडी उस वक्त जॉनी वाकर से शुरू होती और जॉनी लीवर तक खत्म हो जाती थी. शुरुआती दौर में उन्हें काम नहीं मिल पाया जिसके कारण उन्हें 50रुपए में काम करने पड़े.

मिले थे 50 रुपए

गौरतलब है कि राजू श्रीवास्तव मैं अपने करियर के शुरुआती दौर में काम ना मिलने के कारण उन्हें ऑटो भी चलाना पड़ा था उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्हें किराए के साथ-साथ कुछ टिप्स मिल जाती थी. दरअसल वे लोगों को ऑटो में जोक सुनाया करते थे. राजू श्रीवास्तव को इसके लिए 50 रूपया मिला करते थे और यहां से उन्हें अपने करियर का पहला ब्रेक भी मिल गया था.

यह भी पढे़ इस आवार्ड से आलिया भट्ट को किया गया सम्मानित,जानें इस आवार्ड कि खासियत

बनाई पहचान

राजू श्रीवास्तव के मुताबिक जब किसी बर्थडे पार्टी में कॉमेडी किया करते थे तो उन्हें इस काम के लिए 50 रुपए मिला करते थे. इसके बाद उन्हें सबसे ज्यादा पहचान द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज से मिली. इस शो में उन्होंने गजोधर भैया का किरदार निभाया था. वही उन्हें घर घर में गजोधर भैया के नाम से पहचान मिलने लगी थी .गौरतलब है कि राजू श्रीवास्तव इस शो के उपविजेता रहे थे इसके बाद राजू ने अपने जीवन में कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और कामयाबी की सीढ़ी चढ़ते चले गए.

यह भी पढे़ जब नागा चैतन्य ने कार में की थी शर्मनाक हरकत,पुलिस ने रंगो हाथ पकड़ किया था गिरफ्तार