फिल्मी जगत के दिवंगत अभिनेता राजीव कपूर की 25 अगस्त को जयंती थी. इस दिन राजीव कपूर की 59वीं जयंती थी. 25 अगस्त 1962 को जन्मे राजीव कुमार अपने भाइयों की तरह फिल्मी दुनिया में अपनी पहचान तो कायम नहीं कर पाए, लेकिन उन्होंने लोगों के बीच अपनी अच्छी खासी लोकप्रियता बनाई थी. चर्चित कपूर खानदान में जन्मे राजीव कपूर, निर्माता और निर्देशक राज कपूर और कृष्णा कपूर के सबसे छोटे बेटे थे. राज कपूर के बड़े बेटे रणबीर कपूर और उनसे छोटे बेटे ऋषि कपूर और उनसे भी छोटे राजीव कपूर थे. राजीव ने “राम तेरी गंगा मैली हो गई” जैसी सुपरहिट फिल्म में काम किया गया था. इस फिल्म में उनके साथ खूबसूरत अभिनेत्री नजर आए थे.

इन दोनों की जोड़ी ने बॉक्स ऑफिस पर जमकर धमाल मचाया था, इस दौरान मंदाकिनी रातों-रात स्टार बन गई थीं लेकिन राजीव कपूर इस फिल्म के हिट होने के बाद भी खुश नहीं थे. राजीव के पिता के निर्देशन में बनी यह फिल्म काफी समय तक सुर्खियों में बनी रही थी, राजीव कपूर का कहना था कि उन्हें इस फिल्म से जितनी पहचान मिलनी चाहिए थी वह नहीं मिली, और यह बात कहीं तक सच भी है.

लेकिन मंदाकिनी के मुकाबले उनकी एक्टिंग को कम ही सराहा जा रहा था. इस बात पर ही राजीव कुमार अपने पिता राज कपूर से नाराज थे. राजीव ने अपने पिता से कहा कि वह एक और फिल्म बनाएं जिसमें मुझे मंदाकिनी जैसा किरदार दें लेकिन इस बात पर राज कपूर कभी भी राजी नहीं हुए और इसी वज़ह से इन दोनों में दुश्मनी की शुरुआत हुई, और जब राज कपूर की मृत्यु हुई थी तो राजीव कपूर इनके अंतिम संस्कार में भी नही पहुँचे थे.

Randhir Kapoor MournForThe Sudden Demise Of His Brother Rajiv Kapoorराजीव ने ‘एक जान हैं हम’ और ‘राम तेरी गंगा मैली’ के अलावा ‘लवर ब्वॉय’, ‘अंगारे’, ‘जलजला’, ‘शुक्रिया’, ‘हम तो चले परदेस’ जैसी फिल्मों में भी काम किया है, हालांकि उनकी ये फ़िल्में नहीं चली. ख़ास बात यह है कि ये फिल्में आरके बैनर की नहीं थीं.कपूर खानदान से होने के बावजुद भी इनको एक फ्लॉप एक्टर की कैटेगरी में शामिल किया जाता था.