बॉलीवुड में कई सितारों की प्रेम कहानी काफी दिलचस्प रही. इनमें नर्गिस और सुनील दत्त की प्रेम कहानी का जिक्र ना हो, भला ऐसा कैसे हो सकता है. दोनों ने पहली बार फिल्म मदर इंडिया (1957) में काम किया था. इस फिल्म में इन्होंने मां-बेटे का रोल प्ले किया था लेकिन असल ज़िंदगी में इसी फिल्म की शूटिंग के दौरान कुछ ऐसा हुआ जिसके बाद ये जीवनभर साथ निभाने को मजबूर हो गए.

जी हां, हम आपको बता दें कि इस फिल्म की शूटिंग के दौरान एक बार सेट पर भयानक आग लग गई थी.इस दौरान नर्गिस आग में फंस गईं और सुनील दत्त उन्हें बचाने क लिए कूद पड़े. इस दौरान उन्हें गंभीर चोटें आईं और वो अस्पताल में भर्ती रहे. यहीं से नर्गिस के मन में सुनील दत्त के लिए प्यार जागा. इसके बाद उन्होंने सुनील दत्त का ये अहसान चुकाने के लिए एक काम किया. एक दिन सुनील दत्त ने उनसे जिक्र किया कि वो किसी डॉक्टर को नहीं जानते और उनकी बहन को गले में ट्यूमर(गांठ) हो गई है.

नर्गिस ने एक्टर की परेशानी भांप ली और चोरी-छुपे उनके घर गईं, उनकी बहन से मिलीं और अगले दिन उनकी गांठ के ऑपरेशन की व्यवस्था करवा दी. जब सुनील दत्त को ये बात पता चली तो वो उनसे काफी इम्प्रेस हो गए. इसके बाद एक बार सुनील दत्त जब नर्गिस को उनके घर छोड़ने जा रहे थे तो उन्होंने एक्ट्रेस से कहा-एक बात पूछूं, क्या आप मुझसे शादी करेंगी? नर्गिस ने इस बात क कोई जवाब नहीं दिया और घर आने पर चुपचाप कार से उतरकर चली गईं. सुनील दत्त को लगा कि उन्होंने कोई गड़बड़ कर दी और मायूस होकर घर लौट गए लेकिन जब घर पहुंचे तो उनकी बहन ने कहा कि भैया आपने मुझे नहीं बताया,इतनी बड़ी बात छुपायी.सुनील दत्त ने कहा मैंने क्या छुपाया तो फिर उनकी बहन ने कहा, नर्गिस जी शादी के लिए तैयार हैं. इसके बाद 11 मार्च , 1958 को दोनों ने शादी कर ली. शादी के बाद दोनों तीन बच्चों के माता-पिता बने. 3 मई 1981 को नर्गिस का निधन कैंसर के चलते हो गया था. वह अपने बेटे संजय की पहली फिल्म रॉकी की रिलीज नहीं देख पाई थीं.