पिछले दिनों रिलीज हुई “शेरशाह” ने बॉक्स ऑफिस पर जमकर धमाल मचाया, यह फिल्म कैप्टन विक्रम बत्रा के जीवन पर आधारित थी. इसमें विक्रम के शुरुआती जीवन से लेकर अंत तक की पूरी कहानी को दिखाया गया है. इस फिल्म में विक्रम बत्रा के रोल में सिद्धार्थ मल्होत्रा नजर आए थे. और इनकी एक्टिंग को भरपूर प्यार मिला था, इसके साथ ही विक्रम बत्रा की गर्लफ्रेंड के किरदार में कियारा आडवाणी ने भी खूब सुर्खियां बटोरी थीं.

असल, जिंदगी में विक्रम बत्रा ने 24 साल की उम्र में ही अपनी दिलेरी का परिचय देश के सामने रख दिया था, जब उन्होंने देश के लिए लड़ते हुए दुश्मनों को धूल चटाई थी. वहीं इनकी गर्लफ्रेंड का नाम डिंपल चीमा है, जो वर्तमान समय में एक स्कूल में अध्यापिका का काम करती हैं, दोनों के प्यार की कहानी बेहद ही दिलचस्प है. डिंपल चीमा वही लड़की हैं जिनको विक्रम बत्रा ने अपना अंगूठा काटकर मांग भर दी थी.

उसके बाद इनकी मोहब्बत की मिसाल खूब दी जाने लगी. इन दोनों की पहली मुलाकात के बारे में बात करें तो इनकी मुलाकात पंजाब यूनिवर्सिटी में हुई थी जब विक्रम बत्रा m.a. की पढ़ाई कर रहे थे, इसके साथ ही विक्रम आर्मी में जाना चाहते थे और उनकी पढ़ाई पूरी होने से पहले ही उनका आर्मी में सिलेक्शन हो गया था.

इसके बाद उनकी पढ़ाई पूरी नहीं हो पाई, लेकिन उस समय तक इन दोनों का प्यार परवान चढ़ चुका था, और दोनों एक दूसरे से बेहद मोहब्बत करने लगे थे, लेकिन इस रिश्ते के लिए डिंपल का परिवार बिल्कुल भी राजी नहीं था, क्योंकि विक्रम हमेशा ही घर से दूर रहते थे, लेकिन डिंपल का शादी करने का सपना उस दिन टूट गया जब विक्रम बत्रा की शहीद होने की खबर गांव में पहुंची. बता दें,कि कारगिल वॉर से लौटने के बाद इन दोनों की शादी होने वाली थी, लेकिन 7 जुलाई 1999 को विक्रम बत्रा देश के लिए दुश्मनों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए.

एक इंटरव्यू में डिंपल चीमा ने बताया था कि उन्होंने शादी की तैयारियां भी शुरू कर दी थी, लेकिन जब यह खबर आई कि विक्रम अब इस दुनिया में नहीं रहे तो मैंने तय किया कि मैं कभी भी किसी के साथ शादी नहीं करूंगी और मैं अकेले ही अपना जीवन जीना पसंद करूंगी. उस दिन से ही डिंपल चीमा ने शादी नहीं की है, और आज विक्रम बत्रा की विधवा बनकर जिंदगी गुजार रही हैं. बता दें वर्तमान समय में वह एक स्कूल में शिक्षिका हैं. डिंपल बताती हैं कि उन्हें गर्व होता है कि उन्होंने उस लड़के से प्यार किया जिसने देश के लिए हंसते-हंसते अपने को प्राण न्योछावर कर दिया.