बॉलीवुड में प्रेम कहानियां जितनी आसानी से शुरू होती हैं, उतनी ही आसानी से टूटती भी हैं. एक ओर जहां लड़का-लड़की मिलते हैं, प्यार में पड़ते हैं और शादी कर ताउम्र साथ रहने की कसमें खाते हैं. वहीं बॉलीवुड में कई बार ऐसा होना संभव नहीं हो पाता.फ़िल्मी परदे पर तो ये जोड़ियां प्यार को हकीकत में कामयाब होती दिख जाती हैं लेकिन असल ज़िंदगी में कई ऐसी जोड़ियां हैं जिनकी प्यार अपने अंजाम तक नहीं पहुंच पाता औ इनकी प्रेम कहानियां हमेशा-हमेशा के लिए अधूरी ही रह जाती हैं. आज नज़र डालेंगे कुछ ऐसी ही फ़िल्मी जोड़ियों पर जिनका प्यार हमेशा के लिए अधूरा ही रह गया.


1) माधुरी दीक्षित-संजय दत्त: अपने करियर के पीक पर संजय का नाम माधुरी दीक्षित के साथ जुड़ा. दोनों ने कई फिल्मों में काम किया और इस दौरान एक-दूसरे के प्यार में पड़ गए लेकिन नशे की लत और 1993 में हुए मुंबई ब्लास्ट में नाम सामने आने पर संजय मुश्किलों में घिरते चले गए. माधुरी ने संजय से दूरी बना ली और संजय के जेल जाने पर कह दिया कि वो कभी एक्टर के साथ रिलेशनशिप में थी ही नहीं.


2) देव आनंद और सुरैया: दोनों जब प्यार में पड़े तो देव आनंद ने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत की थी और सुरैया अपने सिंगिग करियर के पीक पर थीं. दोनों शादी करना चाहते थे लेकिन सुरैया अपने प्यार के लिए अपने परिवार के सामने मजबूती से खड़ी नहीं हो पाईं. उनकी दादी देव आनंद के साथ उनके रिश्ते के खिलाफ थीं.देव आनंद ने सुरैया को अपने साथ रखने की बहुत कोशिश की लेकिन वह अपने परिवार के खिलाफ जाने को तैयार नहीं हुईं और ये रिश्ता टूट गया.


3) दिलीप कुमार और मधुबाला: दिलीप कुमार औ मधुबाला की जोड़ी बॉलीवुड की सबसे बेहतरीन जोड़ियों में से एक मानी जाती थी. दोनों फिल्मों में काम करते हुए एक दूसरे के करीब आ गए लेकिन इनका रिश्ता मधुबाला के पिता को बिलकुल रास नहीं आया. नतीजतन दिलीप कुमार-मधुबाला कभी एक नहीं हो पाए और दोनों का प्यार हमेशा के लिए अधूरा रह गया.


4) महेश भट्ट-परवीन बाबी: महेश भट्ट और परवीन बाबी की प्रेम कहानी सबसे दुखद प्रेम कहानियों में से मानी जाए तो ये कहना गलत नहीं होगा. महेश इस कदर परवीन के प्यार में पागल थे कि उन्होंने अपनी पहले पत्नी किरण और दो बच्चों तक को छोड़ दिया था और परवीन के साथ लिव इन में रहने लगे थे. फिर परवीन मानसिक बीमारी सिजोफ्रेनिया की शिकार हो गईं और स्थिति बिगड़ती चली गई. महेश ने परवीन का साथ देने की बहुत कोशिश की. उन्हें इलाज के लिए लंदन भी लेकर गए लेकिन कुछ नहीं हो सका और नतीजतन इनका रिश्ता टूट गया.


5) गोविंदा और नीलम: गोविंदा और नीलम ने पहली बार फिल्म ‘इल्जाम’ में प्रेमी-प्रेमिका की भूमिका निभाई थी. दोनों की जोड़ी हिट रही और ये डायरेक्टरों की पहली पसंद बन गए. इसी दौरान दोनों रियल लाइफ में भी एक-दूसरे के करीब आ गए. गोविंदा नीलम से शादी करना चाहते थे लेकिन उनकी मां ने ऐसा होने नहीं दिया. उन्होंने गोविंदा की शादी सुनीता से करवा दी और इस तरह गोविंदा-नीलम की प्रेम कहानी हमेशा के लिए अधूरी रह गई.