फिल्म बाहुबली: द बिगनिंग और बाहुबली: द कंक्लूजन दर्शकों के बीच काफी पॉपुलर फ़िल्में हैं. इन फिल्मों को सिनेमा के इतिहास में महत्त्वपूर्ण जगह दी गई है क्योंकि इनकी मेकिंग से लेकर इनकी स्टोरीलाइन और कलाकारों का अभिनय सबकुछ अव्वल दर्जे का था. फिल्म के हर किरदार को दर्शकों ने जबरदस्त सराहा. इनमें से एक किरदार शिवगामी का है जिसे साउथ एक्ट्रेस राम्या कृष्णन ने निभाया. उन्हें इस रोल के लिए काफी पंसद किया गया और उनका करियर और ऊंचाईयों पर चला गया.

ये कहना गलत नहीं होगा कि राम्या को अब लोग उनकी असली नाम से नहीं बल्कि शिवगामी के नाम से ज्यादा जानते हैं. आपको बता दें कि राम्या ने फ़िल्मी दुनिया में लंबा सफर तय किया है. उनका जन्म 15 सितंबर, 1970 को चेन्नई में हुआ था. राम्या के अंकल रामास्वामी नामचीन कॉमेडियन और एक्टर रह चुके हैं. राम्या ने 13 साल की उम्र से ही फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया था. वह पहली बार एक मलयालम फिल्म में नज़र आई थीं जिसका नाम नेरम पुलारुमबोल था जो कि एक मलयालम फिल्म थी. यह फिल्म कुछ कारणों से डिले हो गई थी और राम्या तमिल फिल्म वेल्लई मनासू के जरिए सिल्वर स्क्रीन पर पहली बार नजर आई थीं. राम्या का करियर शुरुआत से ही बढ़िया रहा और उन्होंने तकरीबन 200 से ज्यादा फिल्मों में अपनी एक्टिंग का जलवा दिखाया.

उन्होंने कई भाषाओं जैसे हिंदी, कन्नड़, तमिल, तेलुगू और मलयालम फिल्मों में काम किया. राम्या को फिल्म बाहुबली में शिवगामी का रोल किस्मत से मिला था. वह इस रोल के लिए पहली चॉइस नही थीं. उनसे पहले बॉलीवुड सुपरस्टार श्रीदेवी को ये रोल ऑफर किया गया था लेकिन उन्होंने इस रोल को करने से इनकार कर दिया था. दरअसल, श्रीदेवी को ये रोल पसंद तो आया था लेकिन वह ज्यादा फीस चाहती थीं जो कि मेकर्स को मंजूर नहीं था. श्रीदेवी के साथ बात ना बन पाने के बाद राम्या को ये ऑफर किया गया और उन्होंने इसमें इतिहास रच दिया. कहना गलत नहीं होगा कि राम्या के करियर के लिए ये अबतक का बेस्ट रोल है. पर्सनल लाइफ की बात करें तो राम्या ने कृष्णा वामसी से शादी की है और उनका एक बेटा है.