बॉलीवुड और टेलीविजन एक्ट्रेस अंकिता लोखंडे भी कास्टिंग काउच के बुरे अनुभव से गुजर चुकी हैं. हाल ही में उन्होंने एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया है. अंकिता ने बताया कि उन्हें कास्टिंग काउच के दो बुरे अनुभव हुए. पहला अनुभव तब हुआ जब वह फिल्म इंडस्ट्री में नई थीं. अंकिता ने कहा, मैं एक साउथ फिल्म के ऑडिशन के लिए गई थी और तब मेरी उम्र तकरीबन 19-20 साल रही होगी.


ऑडिशन लेने वाले शख्स ने मुझसे पूछा कि क्या तुम कॉम्प्रोमाइज कर पाओगी? मैं बहुत स्मार्ट थी, उस रूम में अकेली थी तो मैंने पूछा किस तरह का कॉम्प्रोमाइज करवाना चाहते हैं आपके प्रोड्यूसर? क्या मुझे डिनर या पार्टियों में जाना पड़ेगा? उस शख्स ने सीधे मुझसे कह दिया कि प्रोड्यूसर रोल के बदले आपके साथ सोना चाहते हैं. ये सुनकर मुझसे गुस्सा तो बहुत आया लेकिन मैंने उस शख्स की बैंड बजा दी. मैंने उससे कहा, आपके प्रोड्यूसर को सोने के लिए लड़की चाहिए लेकिन काम करने के लिए उन्हें टैलेंटेड लड़की की जरूरत नहीं है. इतना कहकर मैं वहां से निकल गई.उसके बाद उस शख्स का माफी मांगने के लिए मेरे पास कॉल आया और उसने कहा कि हम आपको फिल्म में ले लेंगे लेकिन मैंने उसे मना कर दिया कि मैं आपकी फिल्म में काम नहीं करूंगी.


अंकिता ने एक और कास्टिंग काउच अनुभव के बारे में बात करते हुए कहा, दूसरा अनुभव तब हुआ जब मैं टेलीविजन इंडस्ट्री में जाना-माना नाम बन चुकी थी. जब एक फिल्म के सिलसिले में मैं एक बड़े एक्टर से मिलने गई. मैं उनका नाम नहीं लेना चाहूंगी. उस एक्टर से हाथ मिलाते ही मैं समझ गई कि कुछ गड़बड़ है. मैंने अपना हाथ पीछे कर लिया. मैं समझ गई थी कि अब मेरा यहां नहीं होगा इसलिए मैं वहां से चली आई क्योंकि वो जगह मेरे लिए नहीं थी.अंकिता ने टेलीविजन शो ‘पवित्र रिश्ता’ के जरिए खूब नाम कमाया था. इसके बाद वह कंगना रनोट की फिल्म ‘मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ़ झाँसी’ में दिखाई दी थीं जो कि उनकी पहली बॉलीवुड फिल्म थी. इसके बाद वह टाइगर श्रॉफ की ‘बागी 3’ में भी नजर आई थीं जो कि 2020 में रिलीज हो चुकी है.