हिंदी सिनेमा में बहुत सारे ऐक्टर्स ने विलेन का रोल अदा किया, लेकिन अमरीश पुरी की तो बात ही अलग थी. अमरीश पुरी ने इस कदर हिंदी सिनेमा में विलेन का रोल अदा किया था कि बड़े-बड़े हीरो भी इनके फैन हुआ करते थे. अमरीश पुरी अपने किरदार में इस कदर घुस जाया करते थे कि पर्दे पर उनकी एक्टिंग देखकर दर्शक भी कभी कबार डर जाया करते थे.

When Amrish Puri stormed off a set because of another actor | Filmfare.comबता दें कि अमरीश पुरी अपनी नकारात्मक भूमिकाओं में इस कदर घुस जाया करते थे और इस ढंग से उस को निभाते थे कि एक वक्त ऐसा आया था जब हिंदी फिल्मों में अमरीश पुरी को बुरे आदमी के रूप में जाना जाने लगा था.

अमरीश पुरी का एक डायलॉग सबसे फेमस है जो मिस्टर इंडिया में उन्होंने बोला था. ‘मोगैंबो खुश हुआ’ यह डायलॉग आज भी इतना फेमस है कि लोग बातों-बातों में इस डॉयलॉग को एक मुहावरे के तरह बोल दिया करते हैं.

Mogambo Khush Hua and other 9 Iconic Amrish Puri dialogues that are hard to  forget in this Lifetime | Celebrities News – India TVबता दे कि अमरीश पुरी नकारात्मक किरदारों के साथ-साथ कई सकारात्मक किरदारों में भी नजर आए थे, लेकिन उनको नकारात्मक किरदारों ने कुछ इस कदर पकड़ लिया था कि लोग उन्हें सकारात्मक किरदार में बिल्कुल भी पसंद नहीं करते थे. बता दें कि फिल्मों में जैसा किरदार अमरीश पुरी निभाते थे उसके ठीक विपरीत अपने जीवन में थे, अमरीश पुरी एक बहुत ही अच्छे व्यक्तित्व के इंसान माने जाते थे.

Mogambo Memoirs: Little-Known Stories About the Legendary Amrish Puriअमरीश पुरी ने हिंदी के अलावा कन्नड़, मलयालम, पंजाबी, तमिल, और तेलुगु तथा हॉलीवुड के फिल्मों में भी अपना रोमांचक किरदार निभा कर सब को प्रसन्न कर दिया था, अमरीश पुरी हिंदी सिनेमा के एक ऐसे सितारे थे, जिनकी चमक उनके जाने के बाद भी बॉलीवुड में चमकती है.

कैसे हुआ था अमरीश पुरी का निधन

बता दें कि अमरीश पुरी के जीवन की अंतिम फिल्म, जो उनके निधन के बाद 2005 में रिलीज हुई थी जिसका नाम ‘किसना: दी वॉरियर पोअट’ था. अमरीश पुरी का निधन 12 जनवरी 2005 को 72 वर्ष की उम्र में ब्रेन ट्यूमर की वजह से हुआ था.

The Late Amrish Puri Beautifully Croons a Punjabi Gazal in This Throwback  Video and It Will Definitely Give You Goosebumps!उनके अचानक हुए इस निधन से बॉलीवुड शोक में डूब गया था, और बॉलीवुड सेलेब्स साथ साथ पूरा देश भी कई दिनों तक शोक में डूबा रहा था. अमरीश पुरी भले ही अब इस दुनिया में नहीं है, लेकिन उनकी यादें आज भी उनकी फिल्मों के सहारे जिन्दा है.