विनोद खन्ना बॉलीवुड के बेहद शानदार अभिनेता माने जाते हैं. विनोद खन्ना ने बॉलीवुड के कई बेहतरीन बेहतरीन और सुपरहिट फिल्मों में अपने अभिनय का परिचय दिया है. लेकिन क्या आपको पता है विनोद खन्ना बॉलीवुड के एक ऐसे सितारे थे जो अपने एक्टिंग से इतने लोकप्रिय हो गए थे कि इन्होंने सदी के महानायक अमिताभ बच्चन को भी अपने लोकप्रियता से पीछे छोड़ दिया था. विनोद खन्ना 27-28 साल की उम्र में थे तो यह बॉलीवुड के सबसे बड़े सितारे हुआ करते थे.

साल 1970 के दौर में विनोद खन्ना बॉलीवुड के बेहद ही पॉपुलर अभिनेता हुआ करते थे और यह अमिताभ बच्चन को भी टक्कर देते थे. इतना ही नहीं अमिताभ बच्चन के साथ यह कई फिल्मों में भी नजर आए थे और लोगों ने इन्हें काफी ज्यादा पसंद किया था. लेकिन साल 1990 में इनके जीवन से जुड़े कई लोगों की मौत हो गई जिसके बाद से विनोद खन्ना काफी जगह डर गए और इसके बाद इन्होंने संन्यास ले लिया था. दरअसल विनोद खन्ना ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था 70 का दशक विनोद खन्ना के जीवन का सबसे खराब समय था क्योंकि इस दशक में बहुत कम समय में इनके जीवन से जुड़े कई लोगों की मृत्यु हो गई थी.

यह भी पढ़े-8वीं पास सपना चौधरी को डाक्टरेड की उपाधि से किया गया सम्मानित, सपना चौधरी के द्वारा भेजे गए मरीजों का फ्री में किया जाएगा इलाज

vinod khanna

विनोद खन्ना ने बताया था कि इनकी मां की मृत्यु और इनकी बहन की मृत्यु मात्र 4 महीना के अंदर ही हो गई थी. इतना ही नहीं इनकी मां और इनकी बहन के अलावा 2 और लोगों की मौत हो गई थी. जिससे विनोद खन्ना काफी ज्यादा आहत हो गए थे और ऐसे में यह सोच रहे थे कि मैं भी एक न एक दिन मर जाऊंगा और यही कारण है कि विनोद खन्ना ने अपने जीवन के उद्देश्य को खोजने के लिए सन्यास का रास्ता अपनाया और उन्होंने ओशो के पास जाकर कहा कि मैं सन्यास करना चाहता हूं जिसके बाद उन्होंने इन्हें सन्यासी बनाया और फिर क्या था बॉलीवुड के सुपर स्टार विनोद खन्ना एक सन्यासी तौर पर अपना जीवन व्यतीत करने लगे.

इतना ही नहीं आश्रम में साफ-सफाई बर्तन धोने और टॉयलेट की साफ सफाई करने का काम करते थे. इतना ही नहीं कभी तो यह आश्रम में पोछा लगाने का भी काम करते थे. हालांकि, साल 1987 में यह फिर से बॉलीवुड में बाउंसबैक किए और उसके बाद उन्होंने बॉलीवुड की कई हिट फिल्मों में काम किया जिसके बाद से विनोद खन्ना की लोकप्रियता फिर से बढ़ने लगी और इनकी लोकप्रियता देखकर लोग कहने लगे कि अगर यह सन्यास नहीं लिए होते तो आज अमिताभ बच्चन से बड़े स्टार होते.

यह भी पढ़े-फिल्म RRR के अपार सफलता के बाद खुलने जा रहा है RRR रेस्टोरेंट, जूनियर एनटीआर और रामचरण ने भेजा एस एस राजामौली के पास प्रस्ताव